Patient Guide

08/Mar/2020

आईवीएफ (IVF) पर English में बहुत कुछ लिखा गया है लेकिन अभी भी आसान हिंदी में सही और पूरी जानकारी का अभाव है | इस लेख के माध्यम से, आइए जानें आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब बेबी इलाज क्या है (What does IVF means in Hindi?) , यह इलाज किन लोगों के लिए है, इसके क्या फायदे हैं, यह कैसे किया जाता है , इसमें खर्चा कितना आता है और टेस्ट ट्यूब बेबी का इलाज कहाँ करा सकते हैं ?

आईवीएफ का मतलब होता है इन विट्रो फर्टिलाइजेशन | इसे टेस्ट ट्यूब बेबी ट्रीटमेंट भी कहते हैं | इस तकनीक की सहायता से विश्व भर में अब तक 80 लाख से ज़्यादा बच्चे पैदा हुए हैं | इसमें महिला के अंडे और पुरुष के शुक्राणु का मिलन IVF Lab में कराया जाता है | फर्टिलाइजेशन से बने हुए भ्रूण को महिला के अंदर ट्रांसफर कर दिया जाता है |

This image describes the IVF process. टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है
Complete IVF process . टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है

IVF (टेस्ट ट्यूब बेबी ) इलाज किन लोगों के लिए है

यह इलाज उन निसंतान दंपतियों के लिए है जहाँ

  1. महिला की उम्र ज्यादा हो चुकी है
  2. महिला के अंडे नहीं बन रहे हैं
  3. महिला की बच्चेदानी में कोई बीमारी है या नलें बंद है
  4. महिला को एंडोमेट्रियोसिस है
  5. पुरुष के शुक्राणु कम हैं या नहीं हैं
  6. 2 या उससे ज़्यादा बार IUI का फेल हो चुका है
  7. या फिर कोई स्पष्ट कारण का ना होना

अगर आप 6 महीने से ज्यादा टाइम से बच्चे के लिए ट्राई कर रहे हैं लेकिन मम्मी पापा नहीं बन पा रहे हैं, तो आप एक अच्छे IVF स्पेशलिस्ट को ज़रूर दिखाएं |

टेस्ट ट्यूब बेबी इलाज के क्या फ़ायदें हैं-

जिस खुशी का आपको इतने सालों से इंतज़ार था, वो खुशी आपको मिल सकती है और आपकी सूनी गोद मुस्कुरा सकती है | बाकी लोगों की तरह आप भी मम्मी पापा बन सकते हैं | इस इलाज से 50 साल से भी ज़्यादा उम्र की महिलाओं के भी बच्चे हुए हैं | टेस्ट ट्यूब बेबी के सफल होने के की संभावना 40 से 70 प्रतिशत तक होती है | मतलब हर 100 में से 40 से 70 दंपत्ति टेस्ट ट्यूब बेबी के इलाज के बाद मम्मी पापा बन सकते हैं|

टेस्ट ट्यूब बेबी इलाज क्या हैटेस्ट ट्यूब बेबी के इलाज को हम पाँच भागों में बांट सकते हैं:

  1. शुरुआती टेस्ट (Fertility Tests) – पुरुष और महिला के कुछ टेस्ट किए जाते हैं | महिला की खून की जांच और अल्ट्रासाउंड किया जाता है | पुरुषों शुक्राणुओं की जांच (Semen Analysis) की जाती है | इन टेस्ट का खर्चा करीब 4 हज़ार रु आता है|
  2. ज़्यादा संख्या में अंडों का बनाना (Ovarian Stimulation) : IVF के सफल होने के लिए ज़्यादा अंडों की ज़रूरत होती है जिससे ज्यादा से ज़्यादा भ्रूण (Embryo) बन सकें | IVF का इलाज महिला के पीरियड के दूसरे दिन से शुरू किया जाता है | महिला को 10-12 दिनों तक इंजेक्शन दिए जाते हैं | हर 4-5 दिन के बाद अल्ट्रसाउंड से देखा जाताहै कि अंडे ठीक से बन रहे हैं की नहीं |  जब अंडे एक निश्चित आकार ले लेते हैं तब एक आख़िरी इंजेक्शन (Trigger Injection) दे दिया जाता है ताकि 34-38 घंटों के बाद महिला के अंडों को शरीर से निकाला जा सके |
  3. अंडों को निकालना (Ovum Pick Up) – महिला को बेहोश करके एक सुई की मदद से अंडाशय (Ovaries) से अण्डों को बाहर निकाला जाता है | इसे Ovum Pick Up भी कहते हैं | इस प्रक्रिया में करीब 30 मिनिट लगते हैं |2-3 घंटे के बाद अस्पताल से छुट्टी कर दी जाती है | कुछ महिलाओं को इस के बाद कुछ दर्द का अनुभव होना सामान्य है| इसी बीच पुरुष के शुक्राणुओं का सैंपल ले लिया जाता है|
  4. फर्टिलाइजेशन : इस प्रक्रिया में एक अंडे और एक शुक्राणु का मिलन (फर्टिलाइजेशन) कराया जाता है | कुछ स्थितियों में हर अंडे के अंदर इंजेक्शन से शुक्राणु डाला जाता है | इसे ICSI कहते हैं | ICSI से IVF के सफल होने की संभावना और बढ़ जाती है| ICSI के बाद फर्टिलाइज किए हुए अंडों से भ्रूण (Embryo) बनते हैं| यह भ्रूण आईवीएफ लैब में 3 से 5 दिन तक बढ़ने के लिए रखें जाते हैं| इसी बीच अल्ट्रासाउंड से यह देखा जाता है कि बच्चेदानी की लाइनिंग ठीक से बन रही है कि नहीं | अगर लाइनिंग अच्छी बन रही है तो भ्रूण के ट्रांसफर की तैयारी की जाती है| अगर लाइनिंग अच्छी नहीं बन रही है इन भ्रूण (Embryos) को फ्रीज करने की सलाह दी जाती है |
  5. भ्रूण ट्रांसफर (Embryo Transfer): जो एक सरल प्रक्रिया है| 5 दिन के बाद सबसे अच्छे एक या दो भ्रूण महिला के गर्भाशय में एक पतली नली की मदद से ट्रांसफर कर दिया जाते हैं| इसके लिए महिला को बेहोश करने की जरूरत नहीं पड़ती है| इसमें केवल 15 मिनट लगते हैं | करीब 2 घंटे के बाद अस्पताल से छुट्टी कर दी जाती है | बाकी बचे हुए भ्रूण को फ्रीज कर दिया जाता है या फिर नष्ट कर दिया जाता है|

भ्रूण के ट्रांसफर के बाद 15 दिन की दवाइयां लेनी होती है और 15 दिन के बाद प्रेगनेंसी का टेस्ट कराया जाता है| अगर टेस्ट पॉजिटिव आता है तो इसका मतलब है कि आईवीएफ का इलाज सफल रहा है|

IVF( टेस्ट ट्यूब बेबी ) के इलाज में खर्चा कितना आता है

इलाज में 1 से डेढ़ लाख रुपए तक खर्चा आता है|

IVF( टेस्ट ट्यूब बेबी ) का इलाज कहाँ कराएं

गुंजन IVF वर्ल्ड दिल्ली एनसीआर और मेरठ के सबसे भरोसेमंद टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर में से एक है | यहां टेस्ट ट्यूब बेबी की सफलता का प्रतिशत 50 से 70 परसेंट है | यहाँ आज तक हजारों मरीजों का सफल इलाज किया जा चुका है |

इसी के साथ आशा करते हैं की हम आपको IVF (IVF meaning in Hindi is टेस्ट ट्यूब बेबी) की सही और पूरी जानकारी दे सके |  IVF(टेस्ट ट्यूब बेबी) के बारे में और जानने के लिए आप हमें +919625932438 पर कॉल कर सकते हैं या फिर यहाँ क्लिक करें |



IVF Clinics Delhi

Choose Happiness, Choose Us!!!


Call gunjan IVF world for any IVF or Fertility related doubts.


IVF Clinics Delhi

Choose Happiness, Choose Us!!!






Copyright by GUNJANIVFWORLD 2018. All rights reserved. Design & Developed By Cnet Infosystem.



Copyright by GUNJANIVFWORLD 2018. All rights reserved. Design & Developed By Cnet Infosystem.